Short Moral Stories In Hindi दो शेरो की दोस्ती

Short Moral Stories In Hindi दो शेरो की दोस्ती

एक घने जंगल में दो शेर रहते थे।  एक बूढ़ा शेर व दूसरा जवान शेर।  उन दोनों शेरों में बहुत ही गहरी मित्रता थी। उस पूरे जंगल में उन्ही  दो शेरो का राज चलता था। जंगल के बाकी सभी जानवरों में उन दोनों शेरों का डर रहता था। ये दोनों शेर जंगल के जिस तरफ जाते जंगल का क्षेत्र पूरी तरह शांत और खाली हो जाता।

इन दोनों शेरो की मित्रता देख जंगल के सभी जानवर बहुत जलते थे। क्योंकि इन दोनों शेरो को एक साथ होने से जंगल में किसी दूसरे जानवरो का राज नहीं चल पाता।

एक बार किसी गलतफहमी को लेकर दोनों शेरो के बीच अलगाव हो गई। दोनों शेरों का अलगाव देख जंगल के सभी जानवर बहुत खुश हुए। क्योंकि दोनों शेरो के अलगाव से अब जंगल में बाकि जानवरो को भी अपना राज और हुकूमत चलाने का मौका मिला था। जंगल में बूढ़ा शेर से अब कोई नहीं डरता, क्योंकि वह बलहीन हो गया था।

Short Moral Stories In Hindi

जबकि जवान शेर का खौफ अभी भी कुछ हद तक जंगल में बना हुआ था। एक दिन बूढ़ा शेर घूमते- घूमते जंगल के दूसरी तरफ निकल गया।बूढ़ा शेर को अकेले जंगल के उस तरफ देख जंगली कुत्तों को बूढ़े शेर पर वार करने का मौका मिल गया।

लाचार बूढ़ी दादी

उस बूढ़े शेर को 20 से 25 जंगली कुत्तों ने घेर लिया। और उस बूढ़े शेर को भौंकने व काटने लगे। यह देख बूढ़ा शेर घबरा गया। लेकिन फिर भी उन कुत्तों पर झपटता रहा।

तभी अचानक वहां जवान शेर आ गया। जिसे देख सभी कुत्तों के होश उड़ गए। जवान शेर जंगली कुत्तों पर टूट पड़ा। सभी जंगली कुत्ते दुम दबाकर भाग खड़े हुए।

यह देख वहां मौजूद हिरण ने जवान शेर से बोला ! तुमने उस बूढ़े शेर को क्यों बचाया ? वह तो तुम्हारा दुश्मन है।

जवान शेर बोला – “हमारा रिश्ता कमजोर जरूर है, लेकिन इतना भी कमजोर नहीं कि कुत्ते उसका फायदा उठाएं।” शेर की यह बातें सुन हिरन सिर झुका कर वहां से निकल लिया।

 

Leave a Reply